Kaliganjgovtcollege

KaliGanjGovtCollege
>>Latest Update<<

NTT Course in Hindi- NTT कोर्स क्या है, NTT कोर्स क्यों करें? और सिलबस

NTT Course in Hindi– NTT की फुल फॉर्म ‘नर्सरी टीचर ट्रेनिंग’ कोर्स होती हे, जो की हमारे भविष्य के लिए हमारे लिए बहुत जरूरी हे। वर्तमान समय में आधुनिक शिक्षा को बहुत ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। स्कूली शिक्षा की बुनियाद भी नर्सरी क्लास से शुरू होती है जिसके बाद ही स्टूडेंट्स का हायर एजुकेशन की स्टडी के लिए यह एक बहुत महत्वपूर्ण आधार माना जाता हे। अगर आपको भी एक टीचर बनना चाहते है और स्कूल और शिक्षण संस्थानों में नर्सरी के बच्चों को पढ़ाना चाहते है तो NTT कोर्स आपको कर ही होगा, इसके बिना आप टीचर नहीं बन पायेगे। यह कोर्स सरकारी और प्राइवेट शिक्षण संस्थानं में प्री. प्राइमरी स्तर केस्टूडेंट्स को शिक्षण प्रदान करने हेतु किया जाता है। इस ब्लॉग में हम NTT Course in Hindi के बारे में विस्तार से जानेंगे।

If You Apply NTT Vacancy – NTT Vacancy in Haryana 2023

कोर्सNTT
NTT Full Formनर्सरी टीचर ट्रेनिंग
कोर्स ड्यूरेशन1 वर्ष
कोर्स एलिजिबिलिटी डिप्लोमा  
प्रवेश प्रक्रियामेरिट/ एंट्रेंस एग्जाम 
शीर्ष नौकरी की संभावनाएं स्कूल टीचर, चाइल्ड कॉउंसलर, होम ट्यूटर, प्री-प्राइमरी मैनेजर और प्री-प्राइमरी

NTT Course in Hindi: NTT कोर्स क्या है?

NTT का फुल फॉर्म ‘नर्सरी टीचर ट्रेनिंग’ कोर्स होता है। यह एक वर्ष का डिप्लोमा कोर्स है, जिसमें सरकारी और प्राइवेट स्कूलों व इंस्टिट्यूट में नर्सरी के बच्चों को पढ़ाने के लिए यह कोर्स बहुत आवश्यक माना जाता हे। इस कोर्स को 12वीं क्लास के बाद आसानी से किया जा सकता है। इस कोर्स में स्टूडेंट्स को चाइल्ड केयर एंड हेल्थ, बेसिक ऑफ द प्री-प्राइमरी एजुकेशन और टीचिंग मेथाडोलॉजी जैसे विषय को पढ़ाये जाते हे। इसके साथ ही उन्हें प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दी जाती हैं, जिसके माध्यम से वह प्राइमरी क्लास के बच्चों को पढ़ाने में सक्षम होते हैं।

NTT Course in Hindi- NTT कोर्स क्या है, NTT कोर्स क्यों करें? और सिलबस

NTT कोर्स क्यों करें?

अगर आप एक टीचर बनाना चाहते है और बाल शिक्षा विभाग में पढ़ाना चाहते है तो NTT कोर्स एक बहुत अच्छा माना जाता हे। क्योंकि 6th से 10th क्लास को पढ़ाने के लिए B.ed करना अनिवार्य होता है। लेकिन NTT कम ड्यूरेशन का कोर्स है जिसके लिए कैंडिडेट्स को गेजुएशन करने की कोई जरूरत नहीं हे। जिसके कारण युवाओं को शिक्षा के क्षेत्र में बहुत सी नौकरियां आसानी से मिल जाती हैं।

NTT कोर्स सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद, स्टूडेंट्स के पास अपना आगे का करियर सिलेक्ट करने के लिए विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला के रूप मे इसका उपयोग किया जाता हे। वे नर्सरी शिक्षक, होम ट्यूटर, प्री-प्राइमरी मैनेजर, प्री-प्राइमरी शिक्षक आदि के रूप में आसानी से कार्य करने में सक्षम होते हे। इसके साथ ही NTT का सिलेबस उन स्टूडेंट्स की सहायता करता है जो प्रीस्कूलर में पढ़ाना चाहते हैं और भविष्य में हायर सेकेंडरी क्लास का टीचर बनना चाहते हैं।

Also Check: – NTT Vacancy in Bihar 2023

NTT Course in Hindi Syllabus

यहां एक वर्ष के NTT कोर्स में पढ़ाये जाने वाले सिलेबस के बारे में संक्षिप्त में बताया जा रहा है, जिन्हें आप नीचे दिए गए बिंदुओं में देख सकते हैं:-

  • चाइल्ड केयर एंड हेल्थ
  • बेसिक ऑफ द प्री-प्राइमरी एजुकेशन
  • चाइल्ड साइकोलॉजी
  • टीचिंग मेथाडोलॉजी
  • हिस्ट्री एंड फिलॉसोफी ऑफ प्री-प्राइमरी एजुकेशन
  • नुट्रिशन
  • प्रैक्टिकल: वाइवा वॉइस
  • प्रैक्टिकल: आर्ट्स एंड क्राफ्ट्स

NTT के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटी

  • अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन सर्टिफिकेट, अमेरिका
  • एसोसिएट डिग्री इन अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन, अमेरिका
  • डिप्लोमा इन अर्ली इयर्स एजुकेशन, यूनाइटेड किंगडम
  • अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन सर्टिफिकेट, कनाड़ा
  • अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन असिस्टेंट सर्टिफिकेट, कनाड़ा
  • सर्टिफिकेट III इन अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन एंड केयर, ऑस्ट्रेलिया
  • डिप्लोमा ऑफ अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन एंड केयर, ऑस्ट्रेलिया
  • डिप्लोमा इन अर्ली चाइल्डहुड एजुकेशन, न्यूजीलैंड

NTT कोर्स के लिए भारत की प्रमुख संस्थान

  • अखिल भारतीय सार्वजनिक और शारीरिक स्वास्थ्य संगठन (दिल्ली)
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी
  • कस्तूरबा गांधी नर्सरी शिक्षक प्रशिक्षण कॉलेज
  • भारतीय शिक्षा परिषद, लखनऊ
  • दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन (DIECCE)
  • लाल बहादुर शास्त्री प्रशिक्षण संस्थान, गाजियाबाद
  • भारतीय शिक्षा परिषद, लखनऊ
  • नर्सरी शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय, केरल
  • कस्तूरबा गांधी नर्सरी शिक्षक प्रशिक्षण कॉलेज नमक्कल, तमिलनाडु
  • उत्तर पूर्व सीमांत तकनीकी विश्वविद्यालय, अरूणाचल प्रदेश
  • सिंघानिया यूनिवर्सिटी
  • आगरा कॉलेज
  • गार्गी कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • मानव भारती नर्सरी टीचर्स ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट, नई दिल्ली
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा

NTT कोर्स के लिए योग्यता

  • NTT कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को 12वीं क्लास में 55% मार्क्स होना कम्पलसरी होता है। कुछ इंस्टिट्यूट में NTT कोर्स के लिए मेरिट के आधार पर एडमिशन दिया जाता है जिसमें स्टूडेंट्स को अच्छे मार्क्स के साथ 12th कंप्लीट करना जरुरी होता हैं।
  • NTT कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट अपने लेवल के माध्यम से एग्जाम कंडक्ट करती है। NTT कोर्स के लिए नेशनल लेवल का एग्जाम कंडक्ट नहीं किया जाता।
  • विदेश की स्टडी करने के लिए अधिकतर यूनिवर्सिटीज SAT या GRE मार्क्स की मांग करती हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट मार्क्स कम्पलसरी होते हैं। जिसमे IELTS अंक 7 या उससे अधिक और TOEFL अंक 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/Resume और पोर्टफोलियो भी जमा करने होंगे।

विदेश में NTT कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस कैसे करें?

  • आपकी एप्लीकेशन प्रोसेस का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी को सिलेक्ट करना है।
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के सिलेक्ट करने के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में कम्पीट रिसर्च करें।
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और डाक्यूमेंट्स एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
  • उसके बाद विदेश में जाने के लिए अपने ऑफर लेटर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें।
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन फीस का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए अप्लाई करें।

विदेश में BFA कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधिकारिक शैक्षणिक ट्रांसक्रिप्ट
  • स्कैन किए हुए पासपोर्ट की कॉपी
  • IELTS या TOEFL, आवश्यक टेस्ट स्कोर
  • प्रोफेशनल/एकेडमिक LORs
  • SOP
  • निबंध (यदि आवश्यक हो)
  • पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो)
  • अपडेट किया गया सीवी/रिज्यूमे
  • एक पासपोर्ट और छात्र वीजा
  • बैंक स्टेटमेंट्स

भारतीय विश्वविद्यालयों में NTT कोर्स के लिए एप्लीकेशन प्रोसेस

  • NTT कोर्स में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से अप्लाई किया जा सकता हैं।
  • NTT कोर्स में अप्लाई करने के लिए सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप स्टडी करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, कैटेगिरी आदि के साथ एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करें और आवश्यक एप्लीकेशन फीस की पेमेंट करें।
  • यदि एडमिशन, एंट्रेंस एग्जाम पर आधारित है तो पहले एंट्रेंस एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। एंट्रेंस एग्जाम के मार्क्स के आधार पर आपका सिलेक्शन किया जाएगा और फाइनल लिस्ट जारी की जाएगी।

भारत में NTT कोर्स के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आपकी 10वीं या 12वीं की परीक्षा की मार्कशीट और पासिंग सर्टिफिकेट
  • डेट ऑफ बर्थ का प्रूफ
  • स्कूल लिविंग सर्टिफिकेट
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • डोमिसाइल सर्टिफकेट/रेजिडेंशियल सर्टिफिकेट
  • टेम्पररी सर्टिफिकेट
  • करेक्टर सर्टिफिकेट
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ी जाति सर्टिफिकेट
  • विकलांगता का प्रमाण (यदि कोई हो)
  • माइग्रेशन सर्टिफिकेट

NTT कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षाएं

भारत में NTT कोर्स के लिए यूनिवर्सिटीज़ और इंस्टिट्यूट में अपने लेवल का एग्जाम कंडक्ट किया जाता है। NTT कोर्स के लिए नेशनल लेवल का एग्जाम कंडक्ट नहीं किया जाता है। यहां कुछ प्रमुख यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट के द्वारा कंडक्ट किए जाने वाले प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम के बारे में बताया जा रहा हैं:-

  • CTET
  • TET
  • SLET
  • TGT
  • PRT

NTT कोर्स के बाद जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

जॉब प्रोफाइल्सऔसतन सालाना सैलरी (INR)
स्कूल टीचर 3 लाख से 5 लाख
चिल्ड्रन काउंसलर 3 लाख से 7 लाख
सोशल वर्कर3 लाख से 5 लाख
कम्युनिटी वर्कर 3 लाख से 5.5 लाख
कंटेंट राइटर 3 लाख से 7 लाख

Leave a Comment